Advertisement


Kholo Kholo

Taare Zameen Par (2007)

Movie: Taare Zameen Par
Year: 2007
Director: Aamir Khan
Music: Shankar-Ehsaan-Loy
Lyrics: Prasoon Joshi
Singers: Raman Mahadevan

खोलो खोलो दरवाज़े, परदे करो किनारे
खुटे से बंधी है हवा, मिल के छुडाओ सारे
आजाओ पतंग लेके, अपने ही रंग लेके
आसमान का शामियाना, आज हमें है सजाना

क्यूँ इस कदर हैरान तू, मौसम का है मेहमान तू
हो दुनिया सजी तेरे लिए, खुद को ज़रा पहचान तू

तू धुप हैं झम से बिखर, तू है नदी ओ बेखबर
बह चल कहीं, उड़ चल कहीं
दिल खुश जहाँ
तेरी तो मंजिल है वहीँ

क्यूँ इस कदर हैरान तू
मौसम का है मेहमान तू

बासी ज़िन्दगी उदासी, ताज़ी हसने को राज़ी
गरमा गरमा सारी, अभी को है उतारी
ओ ज़िन्दगी तो हैं बताशा, मीठी मीठी सी है आशा
चख ले रख ले, हथेली से ढक ले इसे
तुझमें अगर प्यास है
बारिश का घर भी पास है
रोके तुझे कोई क्यों भला
संग संग तेरे आकाश है
तू धुप हैं झम से बिखर, तू है नदी ओ बेखबर
बह चल कहीं, उड़ चल कहीं
दिल खुश जहाँ
तेरी तो मंजिल है वहीँ

खुल गया आसमान का रास्ता देखो खुल गया
मिल गया खो गया था जो सितारा मिल गया, मिल गया
रोशन हुई सारी ज़मीन
जगमग हुआ सारा जहां
हो उड़ने को तू आज़ाद है
बंधन कोई अब है कहाँ
तू धुप हैं झम से बिखर, तू है नदी ओ बेखबर
बह चल कहीं, उड़ चल कहीं
दिल खुश जहाँ
तेरी तो मंजिल है वहीँ

ओ क्यूँ इस कदर हैरान तू
हो मौसम का है मेहमान तू

Other songs from Taare Zameen Par (2007)


Advertisement


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
%d bloggers like this: