Advertisement


Hoshwalon Ko Khabar

Sarfarosh (1999)

Movie: Sarfarosh
Year: 1999
Director: John Matthew Matthan
Music: Jatin-Lalit
Lyrics: Nida Fazli
Singers: Jagjit Singh

होशवालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
होशवालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजिये फिर समझिये
इश्क़ कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है
होशवालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है

उनसे नज़रें क्या मिली रोशन फ़िज़ाएं हो गयी
हम्म हम्म हम्म, अहा अहा अहा, ला ला ला
उनसे नज़रें क्या मिली रोशन फ़िज़ाएं हो गयी
आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है
आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजिये फिर समझिये
इश्क़ कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है

खुलती ज़ुल्फ़ों ने सिखायी मौसमों को शायरी
हम्म हम्म हम्म, हम्म हम्म हम्म, ला ला ला
खुलती ज़ुल्फ़ों ने सिखायी मौसमों को शायरी
झुकती आँखों ने बताया मैकशी क्या चीज़ है
झुकती आँखों ने बताया मैकशी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजिये फिर समझिये
इश्क़ कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है

हम लबों से केह ना पाये, उनसे हाल-ए-दिल कभी
हम्म हम्म हम्म, ला ला ला, हम्म हम्म हम्म हम्म
हम लबों से केह ना पाये, उनसे हाल-ए-दिल कभी
और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या चीज़ है
और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजिये फिर समझिये
इश्क़ कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है

Hoshwalon ko khabar kya bekhudi kya cheez hai
Hoshwalon ko khabar kya bekhudi kya cheez hai
Ishq kijiye phir samajhiye
Ishq kijiye phir samajhiye zindagi kya cheez hai
Hoshwalon ko khabar kya bekhudi kya cheez hai

Unse nazarein kya mili roshan fizaein ho gayi
Hmm hmm hmm, aha aha aha, la la la
Unse nazarein kya mili roshan fizaein ho gayi
Aaj janaa pyaar ki jaadugari kya cheez hai
Aaj janaa pyaar ki jaadugari kya cheez hai
Ishq kijiye phir samajhiye
Ishq kijiye phir samajhiye zindagi kya cheez hai

Khulti zulfon ne sikhayee mausamon ko shayaree
Hmm hmm hmm, hmm hmm hmm, la la la
Khulti zulfon ne sikhayee mausamon ko shayaree
Jhukti aankhon ne bataya maikashi kya cheez hai
Jhukti aankhon ne bataya maikashi kya cheez hai
Ishq kijiye phir samajhiye
Ishq kijiye phir samajhiye zindagi kya cheez hai

Hum labon se keh na paaye, unse haal-e-dil kabhi
Hmm hmm hmm, la la la, hmm hmm hmm hmm
Hum labon se keh na paaye, unse haal-e-dil kabhi
Aur woh samjhe nahin ye khamoshi kya cheez hai
Aur woh samjhe nahin ye khamoshi kya cheez hai
Ishq kijiye phir samajhiye
Ishq kijiye phir samajhiye zindagi kya cheez hai

Other songs from Sarfarosh (1999)


Advertisement


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
%d bloggers like this: